हत्या करके शव को जला दिया 11 दिन बाद FIR  हुई दर्ज।

शिमला। हिमाचल प्रदेश के जिला शिमला में एक युवक की हत्या कर उसके शव को जलाने की सनसनीखेज वारदात सामने आई है। युवक को पीट-पीट कर मारने और सबूत  मिटाने के लिए उसके शव को जलाने के संगीन आरोप लगे हैं। मृतक पहचान टीकमचंद उम्र 38 वर्षीय, गांव बझोल तहसील सुन्नी, शिमला निवासी के तौर पर हुई है। मृतक की मां तारा देवी ने 11 दिन बाद पुलिस को शिकायत दी है। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है और छानबीन शुरू कर दी है।

क्या है पूरा मामला…।

जानकारी के अनुसार, घटना बालूगंज थाना क्षेत्र के पनेश पंचायत की है। मृतक की मां ने बताया कि टीकमचंद पिछले 8-9 सालों से खरयाड़ गांव में सेवानंद के घर में मजदूरी का काम करता था। बीती 22 मार्च को सेवानंद की पत्नी प्रभा ने उन्हें फोन कर सूचित किया कि उनके बेटे की गिरने से मौत हो गई है और शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। तारा देवी ने पुलिस को बताया कि स्थानीय लोगों से उसे पता चला कि 21 मार्च को उसका बेटा शीतला माता मंदिर गया था, जहां ग्रामीणों ने चोरी के शक में उसे बहुत पीटा। पीटने के कारण टीकमचंद की मौत हो गई जिसके बाद लोगों ने उसके शव को जला दिया। मृतक की मां का आरोप है कि उसके बेटे को मारकर और शव को जलाकर सबूत मिटाए गए हैं। DSP सिटी मानविंदर ठाकुर ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि जांच की जा रही है।