अभिनेता विनोद खन्ना की पत्नी कविता खन्ना ने लोकसभा चुनाव लड़ने का संकेत।

पठानकोट: पंजाब में आगामी लोकसभा चुनाव में अब कुछ ही समय बचा है. ऐसे में पार्टियां अपने-अपने उम्मीदवार मैदान में उतार रही हैं. आम आदमी पार्टी और बीजेपी ने हाल ही में 6 सीटों से उम्मीदवारों की घोषणा की है. वहीं, कुछ उम्मीदवारों ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की भी इच्छा जताई है।इन सबके बीच अभिनेता विनोद खन्ना की पत्नी का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने गुरदासपुर से चुनाव लड़ने का एलान किया है. उन्होंने कहा कि विनोद खन्ना गुरदासपुर को लेकर काफी चिंतित थे और अपने आखिरी वक्त में भी वह गुरदासपुर के बारे में ही सोच रहे थे. विनोद खन्ना की पत्नी सुनीता खन्ना ने कहा कि ‘हमारे पास भगवान का दिया सब कुछ है लेकिन मैं गुरदासपुर के लोगों की सेवा करना चाहती हूं.’ उन्होंने कहा कि ‘जब हम गुरदासपुर आए तो लोगों ने हमें बहुत प्यार दिया.’ उन्होंने कहा कि ‘मैं पिछले 26 साल से गुरदासपुर में रह रही हूं.’।

बता दें कि बीजेपी ने हाल ही में दिनेश सिंह बब्बू को गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र से मैदान में उतारा है, जबकि कविता खन्ना को गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र से मजबूत दावेदार माना जा रहा है. अभिनेता विनोद खन्ना के निधन के बाद उनकी पत्नी कविता खन्ना कई सालों से लोगों की सेवा कर रही थीं और इस बार लोकसभा चुनाव में लोकसभा क्षेत्र गुरदासपुर के लोगों को पूरी उम्मीद है कि पार्टी कविता को ही टिकट देगी. ऐसे में अब बीजेपी के राजनीतिक अभियान में हलचल मच गई है।चुनाव मैदान में उतरने के संकेत: इस बारे में बात करते हुए कविता खन्ना ने कहा कि वह कई सालों से लोकसभा क्षेत्र गुरदासपुर से विनोद खन्ना के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लोगों की सेवा कर रही हैं. उन्होंने कहा कि ‘विनोद खन्ना के निधन के बाद से लोगों ने उन्हें बहुत प्यार दिया है. उन्होंने कहा कि ‘गुरदासपुर हलका मेरा परिवार है. मैंने यहां कविता और विनोद खन्ना फाउंडेशन की भी स्थापना की है.’।उन्होंने कहा कि ‘मैं सिर्फ इतना कहना चाहती हूं कि राजनीति से जो मंच मिलता है उसका इस्तेमाल सेवा के लिए किया जा सकता है. इसलिए मैंने फैसला किया है कि जिस तरह विनोद जी ने लोगों की सेवा की है, उसी तरह मैं भी करती रहूंगी.’ हालांकि, उन्होंने अभी तक किसी पार्टी का नाम नहीं लिया है कि वह किस पार्टी से चुनाव लड़ सकती हैं. लेकिन उन्होंने यह संकेत जरूर दिया कि वह चुनाव लड़ेंगी।