News Polkhol

बरसात से निपटने की तैयारियां शुरु।

शिमला।आपदा प्रबंधन विभाग ने आगामी बरसात को देखते हुए तैयारियां शुरू कर दी हैं। विभाग ने बरसात के दौरान आने वाली बाढ़ और फ्लैश फ्लड की घटनाओं को रोकने के लिए मॉकड्रिल का फैसला किया है। समूचे प्रदेश में यह मॉकड्रिल तीन अलग-अलग चरण में पूरी होगी। पहले चरण में सभी 12 जिलों में विभागों और अधिकारियों के तालमेल पर काम होगा। समन्वय स्थापित करने के बाद 12 जून को एनडीआरएफ समेत अन्य के साथ मिलकर सुबह साढ़े दस से शाम पांच बजे तक अभ्यास के अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जबकि 14 जून को मॉकड्रिल का आयोजन एक साथ किया जाएगा।आपदा प्रबंधन और राजस्व विभाग के विशेष सचिव डीसी राणा ने बताया कि सभी जिलों को पूर्वाभ्यास के लिए पांच-पांच क्षेत्रों को चिन्ह्नित करना होगा। भारतीय सेना, आईटीबीपी, सीआरपीएफ, एनडीआरएफ और एसएसबी समेत अन्य सुरक्षा एजेंसियां भी समय पर इस पूर्वाभ्यास में शामिल हों इस पर भी विभागों को ध्यान केंद्रित करना होगा। इन घटनाओं में हिमाचल प्रदेश को 12 हजार करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान हुआ था। मौजूदा लोकसभा चुनाव में आपदा के दौरान हुए नुकसान लोकसभा चुनाव में भी बड़ा मुद्दा बन गया है। डीसी राणा ने बताया कि मॉकड्रिल के दौरान आपदा प्रबंधन विभाग लोगों को जागरूक करेगा।